Encryption Meaning In Hindi

एन्क्रिप्शन क्या है, Encryption Meaning In Hindi

नमस्ते दोस्तों आपका स्वागत है एक और नए आर्टिकल में दोस्तों आपने computer और इन्टरनेट की दुनिया में Encryption का नाम तोह जरुर सुना होगा आखिर इसका क्या उपयोग है और ये क्यों use किया जाता है दोस्तों आपको आपके सरे सवालो के जवाब मिलेंगे की आखिर Encryption Meaning In Hindi क्या है और Encryption का उपयोग क्यों किया जाता है इसके क्या फायदे और नुकसान है.

 

एन्क्रिप्शन क्या है    ( Encryption Meaning In Hindi )

Encryption कोई भी नई चीजे नहीं है इससे हम हजारो सालो से उपयोग करते आ रहे है बास इसका नाम अलग-अलग है और हमे इसके बारे में कम जानकारी है इसक लिए हमें Encryption कोई नया word लगता है.

Encryption का मतलब ये है की जब भी आप कोई भी data information को लिखे store करे तोह उससे केवेल वही व्यक्ति देख सके जिससे आप दिखाना चाहते है.

और कोई दूसरा उससे देखे तोह वे उसका मतलब न निकल पाए Encryption की मदद से आप अपने data को एक कोड में बदल देते है जिससे की कोई और देख नहीं पता है उसके लिए वे सब एक नंबर है.

जबकि उससे देखने के लिए एक पारकर की key का उपयोग होता है जो की आपके massage को Encrypt करता है किसी भी massage को encode और decode के लिए Encryption फोर्मुले का उपयोग किया जाता है.

 

 

एन्क्रिप्शन का इतिहास

एन्क्रिप्शन शब्द ग्रीक शब्द kryptos से आया है जिसका अर्थ है गुप्त या छुपा हुआ जैसा की हमने कहा था की encryption का उपयोग हजारो सालो से किया जाता है इसका उपयोग इतना ही पुराना है जितना की संचार की कला 1900 ईसा पूर्व के रूप में, मिस्र के एक मुंशी ने शिलालेख के अर्थ को छिपाने के लिए गैरमानक चित्रलिपि का उपयोग किया थाजब कोई भी लिख पड़ नहीं सकता था तोह तब केवेल एक ही सन्देश लिखना पर्याप्त था.

लेकिन encryption की मदद से सन्देश की गोपनीयता की रक्षा करना बहुत आसन हो गया तब किसी भी सन्देश को encryption करने के लिए या अर्थ को छिपाने के लिए दुसरे शब्दों, संख्या और चित्रों का उपयोग किया जाने लगा और एक से दूसरी जगह encryption भेजा जाने लगा इसके बाद पूरी दुनिया में encryption का ही बहुत उपयोग किया जाता है जिसकी वदोलत आज अगर हमको कोई massage भेजन होता है तोह वे भी encryption में जाता है.

 

एन्क्रिप्शन क्यों जरुरी है

Encryption बहुत सी intenet पर मोजूद information और technology को secure करने में बहुत महत्वपूर्ण रोले निभाता है ताकि किसी भी परकार की जानकारी का गलत इस्तेमाल न हो पाए इस लिए Encryption का उपयोग किया जाता है और जे कुछ इस तरह के काम करता है

  • एन्क्रिप्शन  massages को encodes करता है
  • आपके द्वारा भेजे गए massages को देखता है की वे जिससे भेजे गए है उस्सी के पास गए है या कोई बिच में कोई और massages को पड़ रहा है
  • information और social media के अकाउंट के लिए Encryption बहुत जरुरी है
  • Encryption से आपकी जानकारी intenet पर गुप्त रहती है

 

Internet Kya Hai, इन्टरनेट कैसे काम करता है

 

एन्क्रिप्शन का उपयोग कैसे किया किया जाता है

एन्क्रिप्शन का उपयोग आमतोर पर डाटा को सुरशित रखने के लिए किया जाता है जब भी आप atm card का उपयोग करते है या अपने मोबाइल से online शौपिंग करते है तोह इससमे एन्क्रिप्शन का उपयोग किया जाता है.

ताकि आपका डाटा कही भी लीक (hack) न हो जाये आपकी payment जानकारी और पर्सनल इनफार्मेशन को सुरशित रखे के लिए Encryption पर भरोसा किया जाता है किसी भी system में डाटा को Encryption करने के लिए तीन कारको का उपयोग किया जाता है.

  • एन्क्रिप्शन इंजन ( encryption engine)
  • key (key management)
  • laptop या आपका device encryption (laptop encryption)

ये तीनो धटक आपके laptop या device में चल रहे है encryption के लिए

 

एन्क्रिप्शन कैसे काम करता है?

आम तोर पर एन्क्रिप्शन दो पारकर से काम करता  है इनका उपयोग करके सन्देश भेजने वाला जे देख सकता है की वे सन्देश को किस पारकर से अपने massage को आगे वाले को समझा सकता है तोह देखते है एन्क्रिप्शन के दो प्रकार

Symmetric Encryption

Symmetric Encryption का मातब है की shared Encryption क्योकि इसमें जब भी आप डाटा को Encryption करते है तोह आपको एक secret key दी जाती है जिसके बिना उस डाटा को key के बिना खोला या देखा नहीं या सकता है इस लिए इससे shared Encryption भी कहते है.

अकसर Symmetric Encryption का उपयोग कसी high athority प्रोजेक्ट्स में उपयोग किया जाता है जैसे की government information की प्रोटेक्शन के लिए Symmetric Encryption का उपयोग करती है या बहुत जरुरी document को share करते समय इसका उपयोग किया जाता है.

Asymmetric Encryption

जैसे की Symmetric Encryption में एक key का उपयोग किया जाता था तोह Asymmetric Encryption में दो key का उपयोग किया जाता है पहली key का उपयोग जब डाटा को Encryption करने के लिए जरुरत पड़ती है साथ ही जब कभी भी उस डाटा को decrypt किया जाता है तोह दूसरी key का उपयोग किया जाता है.

जिससे की decrypt key कहते है decrypt करते समय इसका उपयोग किया जाता है Asymmetric Encryption का उपयोग public के लिए किया जाता है साथ है इसका use url में भी किया जाता है http से https में बदलने के लिए ssl में Asymmetric Encryption का उपयोग किया जाता है key को सुरशित रूप से अदन-पर्दान asymmetric algorithm को use किया जाता है.

 

 

एन्क्रिप्शन Vs डिक्रिप्शन    (  Encryption vs. decryption )

एन्क्रिप्शन – किसी भी डाटा को encodes करता है massages को Encrypt करके किसी भी third person उस डाटा को न देख सके इसके लिए एन्क्रिप्शन का उपयोग किया जाता है.ताकि आपकी कोई भी payment और पर्सनल इनफार्मेशन कोई और एक्सेस न कर सके इसके लिए Encryption का उपयोग किया जाता है Encrypt की शुरक्षा सीधे आपके डाटा को एन्क्रिप्शन में डाल देती है.

 

डिक्रिप्शन – का उपजोग किसी भी डाटा को decoding करने के लिए किया जाता है decryption की मदद से आप किसी भी massages डाटा को key की मदद से डिक्रिप्शन कर सकते है decryption में key की ताकत बहुत मायने रखती है.इसके बगेर आप massage को केवेल Encryption में ही देख पते है वही पर आपको डिक्रिप्शन key की ताकत का इस्तेमाल करना पड़ता है.

 

50 Ways to Make Money Online | जाने online पैसे कमाने के 50 तरीके

 

एन्क्रिप्शन के प्रकार

  • Bring your own encryption  (BYOE) –    BYOE का उपयोग cloud computing की शुरक्षा के लिए इसका use किया जाता है BYOE user को अपना खुद का Encryption software उपयोग करने की अनुमति देता है और अपनी secret encryption keys का प्रबंधन करने की आजादी देता है वे इससे अपनी मर्ज़ी से mange कर सकते है.
  • Cloud storage encryption –  Cloud storage में ये यूजर को दी जाने वाली एक ऐसी सर्विस है जिसके तहत डाटा या text एन्क्रिप्शन एल्गोरिदम का उपयोग करके उससे बदल दिया जाता है इसके बाद उससे क्लाउड स्टोरेज में रखा जाता है जो भी user cloud stores का उपयोग करता है उससे encryption की जरुरत होती है तोह Cloud storage encryption का उपजोग cloud में डाटा को एन्क्रिप्ट करने के लिए किया जाता है.
  • End-to-end encryption (E2EE) –  ये encryption इस बात की गारंटी देता है की दो लोगो या दो पार्टियों के बिच भेजे जाने वाले massage जो भी डाटा share हो रहा है उससे कोई भी हैकर या कोई sacammer नहीं देख सकता है End-to-end encryption encrypted communication circuit का उपयोग करता है जैसे की वेब क्लाइंट और वेब सर्वर सॉफ्टवेयर के बीच Transport Layer Security (TLS) E2EE के द्वारा शुरक्षा पर्दान की जाती है .
  • Field-level encryption –   ये एक पारकर का किसी विशेष फिल्ड के डाटा को encryption करने के लिए उपयोग किया जाता है या किसी विशेष  क्षेत्रों के लिए use किया जाता है उदाहरण के लिए – क्रेडिट कार्ड नंबर, सामाजिक सुरक्षा नंबर, बैंक खाता संख्या, स्वास्थ्य संबंधी जानकारी, मजदूरी और वित्तीय डेटा ये कुछ क्षेत्र है जहा Field-level encryption का उपयोग किया जाता है.
  • FDE –    इसका उपयोग hard ड्राइव को encryption के लिए किया जाता है जब आप इस encryption का उपयोग करते है तोह उस ड्राइव को खोलने के लिए आपको एक key की जरुरत पड़ेगी जिसके बिना आप उससे एक्सेस नहीं कर सकते है चाहे आप उस ड्राइव को किसी और computer में डाल कर एक्सेस कने की कोशिष करे उस encryption को हटाने के लिए आपको एक key की जरुरत पड़ेगी.
  • HTTPS –   TLS प्रोटोकॉल पर HTTP चलाकर वेबसाइट एन्क्रिप्शन को सक्षम बनाता है। एक वेब सर्वर को सक्षम करता है कि वह भेजे जाने वाली सभी सामग्री को एन्क्रिप्ट करे, एक सार्वजनिक कुंजी प्रमाणपत्र स्थापित किया जाना चाहिए.
  • Link-level encryption –  जब कभी भी आप किसी सिक्योर website पर जाते है तोह आपकी इनफार्मेशन और detail को Link-level encryption के जरिये encryption किया जाता है जैसे-जैसे आप एक नए link पर जाते है तोह आपके पहले वाले pages को एल्गोरिथ्म के द्वारा encryption का उपयोग किया जाता है.
  • Network-level encryption  –  इस encryption का उपयोग किसी खास network में ही किया जाता है और उस network को केवेल उस्सी network के लोग उपयोग कर पते है ऐसा network बनाए के लिए कई परकार के tool और software का उपयोग किया जाता है ताकि network को secure और encryption रखा जा सके.

 

एन्क्रिप्शन के लाभ

 

  • एन्क्रिप्शन का पहला कार्य है की वे किसी भी computer या system में डाटा की सुरक्षा करना है
  • कोई भी डाटा किसी अन्य सिस्टम या computer पर भेजा जाये तोह उससे एन्क्रिप्शन करके उससे प्रोटेक्शन वहा तक भेजना है
  • किसी भी device में डाटा को encryption का उपयोग किया जा सकता है
  • अपने डाटा को हैक होने से बचाए रखने में encryption मदद करता है
  • किसी पारकर के virus के attack से encryption में डाटा सुरक्षित रहता है
  • पर्सनल detail को scammers से बचाता है
  • online payment करने और शौपिंग करते वक़्त आपको secure layer पर्दान करता है
  • आपकी credit card डेबिट card (PCI DSS) की detail को सुरक्षित रखता है

एन्क्रिप्शन का नुकसान

 

  • जब भी आप अपना डाटा encrypt करते है तोह आपको एक key दी जाती है अगर वे key आपसे कही खो जाती है तोह आप अपना सारा डाटा खो सकते है और आपको key के बिना कभी भी अपने डाटा को एक्सेस नहीं कर पाएंगे
  • End-to-end encryption का उपयोग दो लोगो के बिच के सन्देश को कोई भी नहीं देख सकता है तोह बहुत से लोग इसका गलत इस्तेमाल भी कर सकते है

 

Final word by Ugyaan – दोस्तों हम आशा करते है की आपको अब पता चल गया होगा की एन्क्रिप्शन क्या है (Encryption Meaning In Hindi) हमरा इस artical को लिखने का मोटिवे था की आपको Encryption के बारे में सारी जानकारी दी जाये आज इन्टरनेट पर बहुत से scam हो रहे है.

इस लिए जब भी इन्टरनेट का उपयोग करे तोह Encryption का जरुर धयान दे हम आशा करते है की हम आपको Encryption के बारे में साडी जानकारी दे पाए है गर आपको हमारा artical अछा लगा हो तोह इससे अपने दोस्तों के साथ share जरुर करे और अपने facebook के दोस्तों के साथ भी share करे.

Leave a Reply